विलियम शेक्सपीयर की जीवनी | William Shakespeare Biography in Hindi | HindiApni
Biography

विलियम शेक्सपीयर की जीवनी | William Shakespeare Biography in Hindi

Biography Of William Shakespeare In Hindi

Biography Of William Shakespeare In Hindi
विलियम शेक्सपीयर की जीवनी

पूरा नाम          विलियम शेक्सपियर
जन्म               26 अप्रैल 1564
जन्म स्थान     इंग्लैंड के स्ट्रेटफोर्ड
राष्ट्रीयता         ब्रिटिश
पिता                जॉन शेक्सपियर
माता                मैरी शेक्सपियर
पेशा                  नाटककार, अभिनेता
पत्नी                एनी हैथवे
निधन              23 अप्रैल 1616

विलियम शेक्सपियर एक महान अंग्रेजी कवि, नाटककार और अभिनेता थे। इन्हे इंग्लैंड का राष्ट्रीय कवि भी कहा जाता था। इनका उपनाम “वार्ड ऑफ एवन ” था । इन्होने 37 नाटक 154 सनेट्स, 2 लम्बी कथा और कुछ छंद लिखा हैं। विलियम शेक्सपियर ने लगभग 1700 इंग्लिश के शब्द को उतपन किया।

विलियम शेक्सपियर का जन्म 26 अप्रैल 1564 को इंग्लैण्ड के स्ट्रेटफोर्ड ऑफ एवन शहर में हुआ था। शेक्सपियर के पिता एक छोटे कारोबार करते थे। और स्ट्रेटफोर्ड के सरकार में नौकरी भी करते थे। शेक्सपियर ने अपनी पढ़ाई किस स्कूल से की इसका कोई ठोस प्रमाण नहीं मिल पाया हैं। माना जाता हैं की 13 साल की उम्र में अपने पिता को आर्थिक मदद करने के लिए पढाई छोड़ दी।

शेक्सपियर ने 18 साल की उम्र में ऐनी हैथवे से शादी कर ली ऐनी हैथवे जो उनसे 8 साल उम्र में ज्यादा थी। ऐनी हैथवे 26 साल की थी। शादी के 6 महीने बाद उनकी एक बेटी हुई सुसेना इसके बाद उन्हें दो जुड़वे बच्चे हुए हेम्नेट और जूडिथ हेम्नेट की 11 साल की उम्र में मृत्यु हो गई।

Biography Of William Shakespeare In Hindi

शेक्सपियर ने अपना नाट्य कैरियर की शुरुआत 1585 में की और 7 वर्षो तक उस पर काम किया। उन्होंने 1592 लन्दन के मंच पर कैरियर की शुरुआत की उसके बाद शेक्सपियर बहुत प्रसिद्ध हो गए शेक्सपियर ने प्रशंसको और आलोचकों को दोनों को अपनी और आकर्षित किया। रॉबर्ट ग्रिने शेक्सपियर के पहले आलोचको में से एक थे यह शेक्सपियर के प्रियासो से खफा थे 1594 के बाद शेक्सपियर के सभी नाटक भगवान चेम्बरलेन के आदमियों दूवार किया गया। यह ग्रुप बहुत ही कम समय में बहुत ही अच्छी स्तिथि में पहुंच गया। शेक्सपियर ने 1599 में अपना स्वयं का थियटर ख़रीदा और उनका नाम रखा ग्लोब।

शेक्सपियर की अब पहचान एक सफल नाटककार और अभिनेता के रूप में बहुत तेजी से लोकप्रिय होने लगे वह अब आर्थिक रूप से भी काफी मजबूत हो गए थे। 1603 में महरानी एलिजाबेथ की मौत के बाद शाही पटेंट के साथ करार किया गया। वह ग्रुप शेक्सपियर के कई साहित्य को प्रकाशित किया और बेचा इससे शेक्सपियर को और लोकप्रियता बढ़ी शेक्सपियर ने दुसरो द्वारा लिखी नाटक में भी काम किया। उन्होंने 37 नाटक लिखे जिनमे से 15 प्रकाशित हुए इससे उन्होंने बहुत सा धन अर्जित किया शेक्सपियर ने स्ट्रेटफोर्ड में एक विशाल हवेली खरीदा जिसका नाम उन्होंने नई हाउस रखा।

विलियम शेक्सपियर एक नाटककार और अभिनेता के साथ – साथ एक अंग्रेजी कवि भी थे। उनकी दो कविताये वीनस एंड एडोनिस और दी रेप ऑफ़ लुक्रेश काफी लोकप्रिय हुई शेक्सपियर ने अपने काम को सनेट्स का नाम दिया। यह उनके काव्ये का आखरी काम था। जो प्रिंट हुआ शेक्सपियर एक बहुमुखी प्रतिभावान वयक्ति थे। जिन्होंने अपने व्यापक काम के साथ बिभिन्न शैलियों को छूने की कोशिस की शेक्सपियर के नाटक में रोमांस के साथ – साथ कॉमेडी भी होती थी उन्होंने कॉमेडी वाले नाटक भी बहुत से प्रस्तुत किये।

शेक्सपियर का निधन 23 अप्रेल 1616 को हो गई अपनी मृत्यु के तीन साल पहले उनके रिकॉर्ड ही जीवित थे। चर्च के रिकार्ड के अनुसार उन्होंने 5 अप्रैल 1616 को होली ट्रीनिटी चर्च के चांसल में प्रवेश किया वे वहा अपनी पत्नी और 2 बेटिओं के साथ थे। उनकी कब्र की सिला पर स्मृति लेख लिखा था की “गुड फ्रेंड ,फॉर जीसस “।

यह भी पढ़ें:-
विंस्टन चर्चिल की जीवनी
तुलसीदास जी का जीवन परिचय
महादानी वॉरेन बफे का जीवन परिचय
महान क्रिकेटर विराट कोहली की जीवनी

Note: – आपको यह विलियम शेक्सपीयर की जीवनी कैसी लगी अपने comments के माध्यम से ज़रूर बताइयेगा।

1 comment

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *