Hindi QuotesHindi Thoughts

भगवान् महावीर के अनमोल वचन | Lord Mahavira Quotes in Hindi

Lord Mahavira Quotes in Hindi

Lord Mahavira Quotes in Hindi
भगवान् महावीर स्वामी के सुविचार

Quote 1:

In English: As a tortoise withdraws his limbs within his own body, even so does the valiant withdraw his mind within himself from all sins.

In Hindi: जैसे एक कछुआ अपने पैर शरीर के अन्दर वापस ले लेता है, उसी तरह एक वीर अपना मन सभी पापों से हटा स्वयं में लगा लेता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 2:

In English: One who entertains fear finds himself lonely (and helpless).

In Hindi: जो भय का विचार करता है वह खुद को अकेला (और असहाय) पाता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 3:

In English: The non vigilant has fear from all directions. The vigilant has none from any.

In Hindi: जो जागरूक नहीं है उसे सभी दिशाओं से डर है। जो सतर्क है उसे कहीं से कोई भी डर नहीं है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 4:

In English: Only that man can take a right decision, whose soul is not tormented by the afflictions of attachment and aversion.

In Hindi: केवल वही व्यक्ति सही निर्णय ले सकता है, जिसकी आत्मा बंधन और विरक्ति की यातना से संतप्त ना हो।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 5:

In English: The enlightened should contemplate that his soul is endowed with boundless energy.

In Hindi: प्रबुद्ध व्यक्ति को यह विचार करना चाहिए कि उसकी आत्मा असीम उर्जा से संपन्न है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 6:

In English: The courageous as well as the cowardly must die. When death is inevitable for both, why should not one welcome death smilingly and with fortitude?

In Hindi: साहसी हो या कायर दोनों को को मरना ही है। जब मृत्यु दोनों के लिए अपरिहार्य है, तो मुस्कराते हुए और धैर्य के साथ मौत का स्वागत क्यों नहीं किया जाना चाहिए?

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 7:

In English: Birth is attended by death, youth by decay and fortune by misfortune. Thus everything in this world is momentary.

In Hindi: जन्म का मृत्यु द्वारा, नौजवानी का बुढापे द्वारा और भाग्य का दुर्भाग्य द्वारा स्वागत किया जाता है। इस प्रकार इस दुनिया में सब कुछ क्षणिक है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 8:

In English: Greed even for a piece of straw, not to speak of precious things, produces sin. A greedless person, even if he wears a crown, cannot commit sin.

In Hindi: कीमती वस्तुओं की बात दूर है, एक तिनके के लिए भी लालच करना पाप को जन्म देता है। एक लालचरहित व्यक्ति, अगर वो मुकुट भी पहने हुए है तो पाप नहीं कर सकता।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 9:

In English: Just as fire is not quenched by the fuel, similarly no living being is satisfied even with all the wealth of all the three worlds.

In Hindi: जिस प्रकार आग इंधन से नहीं बुझाई जाती, उसी प्रकार कोई जीवित प्राणी तीनो दुनिया की सारी दौलत से संतुष्ट नहीं होता।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 10:

In English: The more you get, the more you want. The greed increases with the gain. What could be accomplished by two masas (grams) of gold could not be done by ten millions.

In Hindi: जितना अधिक आप पाते हैं, उतना अधिक आप चाहते हैं। लाभ के साथ-साथ लालच बढ़ता जाता है। जो २ ग्राम सोने से पूर्ण किया जा सकता है वो दस लाख से नहीं किया जा सकता।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 11:

In English: Just as everybody keeps away from a burning fire, so do the evils remain away from an enlightened person.

In Hindi: जैसे कि हर कोई जलती हुई आग से दूर रहता है, इसी प्रकार बुराइयां एक प्रबुद्ध व्यक्ति से दूर रहती हैं।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 12:

In English: External renunciation is meaningless if the soul remains fettered by internal shackles.

In Hindi: बाहरी त्याग अर्थहीन है यदि आत्मा आंतरिक बंधनों से जकड़ी रहती है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Mahavir Swami Quotes in Hindi

Quote 13:

In English: The bhiksu (ascetic) should not be angry with one who abuses him. Otherwise he would be like the ignoramus. He should not therefore lose his temper.

In Hindi: भिक्षुक (संन्यासी) को उस पर नाराज़ नहीं होना चाहिए जो उसके साथ दुर्व्यवहार करता है। अन्यथा वह एक अज्ञानी व्यक्ति की तरह होगा। इसलिए उसे क्रोधित नहीं होना चाहिए।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 14:

In English: The sadhaka speaks words that are measured and beneficial to all living beings.

In Hindi: साधक ऐसे शब्द बोलता है जो नपे-तुले हों और सभी जीवित प्राणियों के लिए लाभकारी हों।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 15:

In English: Discipline of speech consists in refraining from telling lies and in observing silence.

In Hindi: वाणी के अनुशासन में असत्य बोलने से बचना और मौन का पालन करना शामिल है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 16:

In English: An amorous person, failing to achieve his desired objects, becomes frantic and even ready to commit suicide by any means.

In Hindi: एक कामुक व्यक्ति, अपने वांछित वस्तुओं को प्राप्त करने में नाकाम रहने पर पागल हो जाता है और किसी भी तरह से आत्महत्या करने के लिए तैयार भी हो जाता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 17:

In English: A thief feels neither pity nor shame, nor does he posses discipline and faith. There is no evil that he cannot do for wealth.

In Hindi: एक चोर न तो दया और ना ही शर्म महसूस करता है, ना ही उसमे कोई अनुशासन और विश्वास होता है। ऐसी कोई बुराई नहीं है जो वो धन के लिए नहीं कर सकता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 18:

In English: He should not backbite and indulge in fraudulent untruth.

In Hindi: किसी को चुगली नहीं करनी चाहिए और ना ही छल-कपट में लिप्त होना चाहिए।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 19:

In English: One should not speak unless asked to do so. He should not disturb others in conversation.

In Hindi: किसी को तब तक नहीं बोलना चाहिए जब तक उसे ऐसे करने के लिए कहा न जाय। उसे दूसरों की बातचीत में व्यवधान नहीं डालना चाहिए।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 20:

In English: One may have a tuft or matted hair on the head or a shaven head, remain naked or wear a rag. But if he tells a lie, all this is futile and fruitless.

In Hindi: किसी के सिर पर गुच्छेदार या उलझे हुए बाल हों या उसका सिर मुंडा हुआ हो, वह नग्न रहता हो या फटे-चिथड़े कपड़े पहनता हो। लेकिन अगर वो झूठ बोलता है तो ये सब व्यर्थ और निष्फल है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 21:

In English: A truthful man is treated as reliable as the mother, as venerable as the guru (preceptor) and as beloved as the one who commands knowledge.

In Hindi: एक सच्चा इंसान उतना ही विश्वसनीय है जितनी माँ, उतना ही आदरणीय है जितना गुरु और उतना ही परमप्रिय है जितना ज्ञान रखने वाला व्यक्ति।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 22:

In English: Truth alone is the essence in the world.

In Hindi: केवल सत्य ही इस दुनिया का सार है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 23:

In English: Enlightened by the light of Truth, the wise transcends death.

In Hindi: सत्य के प्रकाश से प्रबुद्ध हो, बुद्धिमान व्यक्ति मृत्यु से ऊपर उठ जाता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 24:

In English: O Self! Practise Truth, and nothing but Truth.

In Hindi: हे स्व! सत्य का अभ्यास करो, और और कुछ भी नहीं बस सत्य का।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 25:

In English: One who remains equanimously in the midst of pleasures and pains is a sramana , being in the state of pure consciousness.

In Hindi: जो सुख और दुःख के बीच में समनिहित रहता है वह एक श्रमण है, शुद्ध चेतना की अवस्था में रहने वाला।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 26:

In English: Let me renounce the bondage of attachment and hatred, pride and meekness, curiosity, fear, sorrow, indulgence and abhorrence (in order to accomplish equanimity).

In Hindi: मुझे अनुराग और द्वेष, अभिमान और विनय, जिज्ञासा, डर, दु: ख, भोग और घृणा के बंधन का त्याग करने दें (समता को प्राप्त करने के लिए)।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 27:

In English: Only the one who has transcended fear can experience equanimity.

In Hindi: केवल वह व्यक्ति जो भय को पार कर चुका है, समता को अनुभव कर सकता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 28:

In English: Don’t be proud if you gain. Nor be sorry if you lose.

In Hindi: जीतने पर गर्व ना करें। ना ही हारने पर दुःख।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 29:

In English: Those who are ignorant of the supreme purpose of life will never be able to attain nirvana (liberation) in spite of their observance of the vratas (vows) and niymas (rules) of religious conduct and practice of sila (celibacy) and tapas (penance).

In Hindi: जो लोग जीवन के सर्वोच्च उद्देश्य से अनजान हैं वे व्रत रखने और धार्मिक आचरण के नियम मानने और ब्रह्मचर्य और ताप का पालन करने के बावजूद निर्वाण (मुक्ति) प्राप्त करने में सक्षम नहीं होंगे।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 30:

In English: The nights that have departed will never return. They have been wasted by those given to unrighteousness.

In Hindi: जो रातें चली गयी हैं वे फिर कभी नहीं आएँगी। वे अधर्मी लोगों द्वारा बर्बाद कर दी गयी हैं।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 31:

In English: The unenlightened takes millions of lives to extirpate the effects of karma whereas a man possessing spiritual knowledge and discipline obliterates them in a single moment.

In Hindi: अज्ञानी कर्म का प्रभाव ख़त्म करने के लिए लाखों जन्म लेता है जबकि आध्यात्मिक ज्ञान रखने और अनुशासन में रहने वाला व्यक्ति एक क्षण में उसे ख़त्म कर देता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 32:

In English: Just as you do not like misery, in the same way others also do not like it. Knowing this, you should do unto them what you want them to do unto you.

In Hindi: जिस प्रकार आप दुःख पसंद नहीं करते उसी तरह और लोग भी इसे पसंद नहीं करते। ये जानकर, आपको उनके साथ वो नहीं करना चाहिए जो आप उन्हें आपके साथ नहीं करने देना चाहते।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 33:

In English: Don’t kill any living beings. Don’t try to rule them.

In Hindi: किसी जीवित प्राणी को मारे नहीं। उन पर शाशन करने का प्रयास नहीं करें।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 34:

In English: That with the help of which we can know the truth, control the restless mind, and purify the soul is called knowledge.

In Hindi: वो जो सत्य जानने में मदद कर सके, चंचल मन को नियंत्रित कर सके, और आत्मा को शुद्ध कर सके उसे ज्ञान कहते हैं।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 35:

In English: Only that science is a great and the best of all sciences, the study of which frees man from all kinds of miseries.

In Hindi: केवल वही विज्ञान महान और सभी विज्ञानों में श्रेष्ठ है, जिसका अध्यन मनुष्य को सभी प्रकार के दुखों से मुक्त कर देता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 36:

In English: Just as a threaded ( sasutra ) needle is secure from being lost, in the same way a person given to self-study ( sasutra ) cannot be lost.

In Hindi: जिस प्रकार धागे से बंधी (ससुत्र) सुई खो जाने से सुरक्षित है, उसी प्रकार स्व-अध्ययन (ससुत्र) में लगा व्यक्ति खो नहीं सकता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 37:

In English: Can you hold a red-hot iron rod in your hand merely because some one wants you to do so? Then, will it be right on your part to ask others to do the same thing just to satisfy your desires? If you cannot tolerate infliction of pain on your body or mind by others’ words and actions, what right have you to do the same to others through your words and deeds?

In Hindi: क्या तुम लोहे की धधकती छड़ सिर्फ इसलिए अपने हाथ में पकड़ सकते हो क्योंकि कोई तुम्हे ऐसा करना चाहता है ? तब, क्या तुम्हारे लिए ये सही होगा कि तुम सिर्फ अपनी इच्छा पूरी करने के लिए दूसरों से ऐसा करने को कहो। यदि तुम अपने शरीर या दिमाग पर दूसरों के शब्दों या कृत्यों द्वारा चोट बर्दाश्त नहीं कर सकते हो तो तुम्हे दूसरों के साथ अपनों शब्दों या कृत्यों द्वारा ऐसा करने का क्या अधिकार है?

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 38:

In English: The soul comes alone and goes alone, no one companies it and no one becomes its mate.

In Hindi: आत्मा अकेले आती है अकेले चली जाती है, न कोई उसका साथ देता है न कोई उसका मित्र बनता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 39:

In English: It is better to win over self than to win over a million enemies.

In Hindi: खुद पर विजय प्राप्त करना लाखों शत्रुओं पर विजय पाने से बेहतर है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 40:

In English: A living body is not merely an integration of limbs and flesh but it is the abode of the soul which potentially has perfect perception (Anant-darshana), perfect knowledge (Anant-jnana), perfect power (Anant-virya), and perfect bliss (Anant-sukha).

In Hindi: एक जीवित शरीर केवल अंगों और मांस का एकीकरण नहीं है, बल्कि यह आत्मा का निवास है जो संभावित रूप से परिपूर्ण धारणा (अनंत-दर्शन), संपूर्ण ज्ञान (अनंत-ज्ञान), परिपूर्ण शक्ति (अनंत-वीर्य) और परिपूर्ण आनंद (अनंत-सुख) है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 41:

In English: All unenlightened persons produce sufferings. Having become deluded, they produce and reproduce sufferings, in this endless world.

In Hindi: सभी अज्ञानी व्यक्ति पीड़ाएं पैदा करते हैं। भ्रमित होने के बाद, वे इस अनन्त दुनिया में दुःखों का उत्पादन और पुनरुत्थान करते हैं।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 42:

In English: There is no enemy out of your soul.The real enemies live inside yourself, they are anger, proud, greed, attachmentes and hate.

In Hindi: आपकी आत्मा से परे कोई भी शत्रु नहीं है। असली शत्रु आपके भीतर रहते हैं, वो शत्रु हैं क्रोध, घमंड, लालच, आसक्ति और नफरत।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 43:

In English: Fight with yourself, why fight with external foes? He, who conquers himself through himself, will obtain happiness.

In Hindi: स्वयं से लड़ो, बाहरी दुश्मन से क्या लड़ना? वह जो स्वयम पर विजय कर लेगा उसे आनंद की प्राप्ति होगी।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 44:

In English: Respect for all living beings is non violence.

In Hindi: सभी जीवित प्राणियों के प्रति सम्मान अहिंसा है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 45:

In English: Silence and Self-control is non-violence.

In Hindi: शांति और आत्म-नियंत्रण अहिंसा है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 46:

In English: The greatest mistake of a soul is non-recognition of its real self and can only be corrected by recognizing itself.

In Hindi: किसी आत्मा की सबसे बड़ी गलती अपने असल रूप को ना पहचानना है, और यह केवल आत्म ज्ञान प्राप्त कर के ठीक की जा सकती है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 47:

In English: Have compassion towards all living beings. Hatred leads destruction.

In Hindi: हर एक जीवित प्राणी के प्रति दया रखो। घृणा से विनाश होता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 48:

In English: Every soul is in itself absolutely omniscient and blissful. The bliss does not come from outside.

In Hindi: प्रत्येक आत्मा स्वयं में सर्वज्ञ और आनंदमय है। आनंद बाहर से नहीं आता।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 49:

In English: A man is seated on top of a tree in the midst of a burning forest. He sees all living beings perish. But he doesn’t realize that the same fate is soon to overtake him also. That man is fool.

In Hindi: एक व्यक्ति जलते हुए जंगल के मध्य में एक ऊँचे वृक्ष पर बैठा है। वह सभी जीवित प्राणियों को मरते हुए देखता है। लेकिन वह यह नहीं समझता की जल्द ही उसका भी यही हस्र होने वाला है। वह आदमी मूर्ख है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 50:

In English: Non-violence is the highest religion

In Hindi: अहिंसा सबसे बड़ा धर्म है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 51:

In English: All human beings are miserable due to their own faults, and they themselves can be happy by correcting these faults.

In Hindi: सभी मनुष्य अपने स्वयं के दोष की वजह से दुखी होते हैं, और वे खुद अपनी गलती सुधार कर प्रसन्न हो सकते हैं।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 52:

In English: There is no separate existence of God. Everybody can attain God-hood by making supreme efforts in the right direction.

In Hindi: भगवान् का अलग से कोई अस्तित्व नहीं है। हर कोई सही दिशा में सर्वोच्च प्रयास कर के देवत्त्व प्राप्त कर सकता है।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

Quote 53:

In English: Every soul is independent. None depends on another.

In Hindi: प्रत्येक जीव स्वतंत्र है। कोई किसी और पर निर्भर नहीं करता।

Lord Mahavir भगवान् महावीर

यह भी पढ़ें:-
एम.एस धोनी की प्रशंसा में कहे गए कथन
महात्मा गांधीजी के अनमोल विचार
महात्रिया रा के प्रेरक विचार
मलाला युसुफ़ज़ई के अनमोल विचार

Note: – आपको यह Lord Mahavira Quotes in Hindi कैसी लगी अपने comments के माध्यम से ज़रूर बताइयेगा।

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *