थॉमस अल्वा एडिसन की जीवनी | Thomas Alva Edison Biography in Hindi | HindiApni
Biography

थॉमस अल्वा एडिसन की जीवनी | Thomas Alva Edison Biography in Hindi

edison biography in hindi

Thomas Edison Biography in Hindi
थॉमस एडिसन की जीवनी

पूरा नाम     –   थॉमस अल्वा एडिसन
जन्म          –   11 फ़रवरी 1847
जन्मस्थान –   मिलन, ऑहियो, संयुक्त राज्य अमेरिका
पिता           –   सेमुअल ओग्डेन एडिसन
माता           –   नैंसी मैथ्यु इलियट
विवाह          –   मैरी स्टिलवेल (m. 1871–84), मीना मिलर (m. 1886–1931)

थॉमस अल्वा एडिसन एक महान वैज्ञानिक और एक सफल व्यवसायी भी थे। एडिसन ने बिजली बल्ब सहित अनेक प्रकार के अविष्कार किये। एडिसन को प्रथम औद्योगिक प्रयोगशाला स्थापित करने का श्रेय जाता है। इन्होने सिर्फ अमेरिका में 1093 पेटेंट कराने वाले महान अविष्कारको में गिने जाते हैं।

थॉमस अल्वा एडिसन का जन्म अहोयो राज्य के मिलन नगर में 11 फरवरी 1847 को हुआ था। उनके पिता का नाम सेमुअल ओग्डेन एडिसन और माँ का नाम नैंसी मैथ्यु इलियट था, ये अपनी माता – पिता के सातवी संतान थे। इनका पैतृक परिवार डच था।

जब थॉमस अल्वा एडिसन स्कूल जाना शुरू किये, तो उनका दिमाग काफी भ्रमित था, उनके शिक्षक उन्हें “व्याकुल” कहकर बुलाते थे। एडिसन सिर्फ 3 महीने ही स्कूल गए, उसके बाद उनकी पढाई घर पर ही उनके माँ ने करवाई।

एडिसन को सुनाने में तकलीफ होती थी। यह तकलीफ उनको अपने बचपन से ही थी। बचपन में उनके कान पर चोट लगने के कारण ये समस्या थी। इसलिए उन्हें बचपन से ही सुनाने में दिक्कत होती थी। लेकिन एडिसन के साथ ये सब होने के वाबजूद बी वह अल्प मनोरंजन, निरंतर परिश्रम, असीम धैर्य, आश्चर्यजनक स्मरण शक्ति, अनुपम कल्पना शक्ति के द्वारा उन्हने अपने जीवन में काफी सफलता हाशिल की, उन्होंने अपने कल्पना शक्ति और स्मरण शक्ति का उपयोग अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने में किया। उन्होंने 14 कंपनी की स्थापना की जिनमे जनरल इलेक्ट्रिक भी शामिल हैं। जो आज भी दुनया की बड़ी कंपनी के लिस्ट में शामिल हैं।

thomas alva edison biography in hindi

एडिसन 12 वर्ष की उम्र में फलो और समाचार पत्र बेचकर प्रतिदिन एक डॉलर की सहायता परिवार को देने लगे। एडिसन ने तार प्रेषण में कुशलता हाशिल कर 20 वर्ष की उम्र तक तार कर्मचारी के रूप में नौकरी की, अगर एडिसन को थोडा भी समय मिलता हो वह उसे प्रयोग और परिक्षण में लगाते थे। सन 1870-76 के बीच एडिसन ने अनेक अविष्कार किये। एक ही तार पर चार – छ: सन्देश अलग – अलग भेजने की बिधि खोजा। स्टॉक एक्सचेंज के लिए तार छापने वाली स्वचालित मशीन को सुधरा और बेल टेलीफ़ोन यंत्र का विकाश किया।

एडिसन ने 1875 में अमेरिका पत्रिका साइंटिफिक में “इतरिये बल” खोज पूर्ण लेख लिखा. सन 1878 में फोनोग्राफ मसीन का पटेंट कराया। 21 अक्टूबर 1879 को एडिसन ने 40 घंटे से अधिक समय तक बिजली से जलने वाला बल्ब विश्व को भेट किया।

एडिसन ने अमेरिका में उस समय 1093 पटेंट अपने कब्जे में कर रखे थे। और इसके आलवा भी यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस, और जर्मनी में भी उनके कई सारे पटेंट हैं। उनके पटेंट के साथ उनका अविष्कार भी काफी प्रचलित होने लगे थे। जिनमे एल्क्ट्रिकल लाइट और पवार यूटिलिटज, साउंड रिकॉर्डर और मोशन पिक्चर भी शामिल हैं।

एडिसन ने डायनेमो और मोटर में बहुत सुधार किये। चलती रेल गाड़ी और चलती जहाज से सन्देश भेजने और प्राप्त करने की बिधि का अबिष्कार किया। सन 1891 में चलचित्र कैमरा का पटेंट करवाया।

एडिसन को प्रथम विश्व युद्ध के समय जलसेना सलाहकार बोर्ड का अध्यक्ष बनकर युद्धउपयोगी अविष्कार किया। पनामा पेसिफिक प्रदर्शनी ने 21 अक्टूबर 1916 को एडिसन दिवस का आयोजन किया। और विश्व कल्याण के लिए सबसे अधिक अविष्कार के लिए समानित किया। एडिसन ने अपने अंतिम समय में कहा की “मैंने अपना जीवन कार्य पूर्ण किया। अब मै दुसरे प्रयोग के लिए तैयार हु ” और विश्व की यह महान विभूति ने 18 अक्टूबर 1931 को अंतिम साँस ली।

यह भी पढ़ें:-
विलियम शेक्सपीयर की जीवनी
विंस्टन चर्चिल की जीवनी
श्री श्री रवि शंकर के अनमोल विचार
महान दार्शनिक सुकरात के अनमोल विचार

Note: – आपको यह थॉमस एडिसन की जीवनी कैसी लगी अपने comments के माध्यम से ज़रूर बताइयेगा।

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *