महान क्रिकेटर विराट कोहली की जीवनी | Virat Kohli Biography in hindi | HindiApni
Biography

महान क्रिकेटर विराट कोहली की जीवनी | Virat Kohli Biography in hindi

Virat Kohli Biography in Hindi

Virat Kohli Biography in Hindi
विराट कोहली जीवन परिचय

पूरा नाम          विराट प्रेम कोहली
जन्म               5 नवम्बर 1988
जन्मस्थान      दिल्ली
पिता                प्रेम कोहली
माता               सरोज कोहली
कोच               राजकुमार शर्मा (वेस्ट डेल्ही क्रिकेट अकादमी )
आदर्श             सचिन तेंदुलकर

विराट कोहली का जन्म 5 नवम्बर 1988 को दिल्ली में हुआ। उनके पिता का नाम प्रेम कोहली और माता का नाम सरोज कोहली है विराट को एक बड़ी बहन और बड़ा भाई हैं। विराट ने विशाल भारती स्कूल से अपनी पढाई की हैं। विराट के पिता पेशे से एक वकील थे। उनकी मृत्यु 2006 में हो गई थी। विराट ने आज अपने मेहनत और लगन के दम पर अपने आप को महान क्रिकेटर की श्रेणी में रखा हैं आज उनकी तुलना दुनिया के महान बलेबाज़ से की जाती है यह सब उनकी कड़ी मेहनत की वजह से है।

2002 में विराट कोहली को दिल्ली के अंडर 15 टीम में शामिल किया गया। उनका उस में बहुत अच्छा प्रदर्शन रहा। उन्होंने अपनी टीम के लिए सर्बाधिक रन बनाये। उनका यह प्रदर्शन को देखकर उनको इस टीम के अगले सत्र का कप्तान बना दिया गया।

2004 में कोहली को दिल्ली अंडर 17 टीम में चुनाव हो गया। टीम में शामिल होने के बाद उन्होंने विजय मर्चेन्ट ट्राफी में 757 रन बनाये। उन्होंने सर्भाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया।

2006 में विराट कोहली को अंडर 19 टीम में शामिल कर लिया गया। विराट ने इंग्लेंड के साथ पहली अंडर 19 श्रृंखला खेली। फिर उसके बाद पाकिस्तान के खिलाफ अंडर 19 श्रृंखला खेली उनका बहुत अच्छा प्रदर्शन को देखकर उन्हें टीम का स्थाई सदस्य बना दिया गया।

Virat Kohli Biography in Hindi

कोहली ने अपना पहला फर्स्ट क्लास मैच 2006 में दिल्ली टीम के लिए तमिल्नांडू के खिलाफ खेला। कोहली कर्णाटक के खिलाफ मैच खेल रहे थे। तभी उनके पिता जी का निधन हो गया। यह बाट सुनने के बाद भी कोहली मैच खेलते रहे। और मैच खतम होने के बाद वह सीधे अपने पिता के अंतिम संस्कार के लिए गए।

2008 में कोहली को अंडर 19 टीम का कप्तान बना दिया गया। और इसी साल अंडर 19 वर्ल्ड कप भी होने वाला था। वर्ल्ड कप के लिए भी इन्हें कप्तान बनाया गया था। विराट कोहली की कप्तनी में इंडिया ने 2008 अंडर 19 वर्ल्ड कप जीता।

विराट कोहली को अपना प्रथम अंतराष्ट्रिये खेलने के लिए काफी इंतजार करना पड़ा। जब 2009 में श्रीलका के साथ हो रही श्रृखला में सहवाग और सचिन के अनफिट हो जाने पर कोहली को पहली बार मौका मिला था। कोहली अपने पहले मैच में कुछ खाश नहीं कर पाए थे। कोहली ने अपना चौथे मैच में पहला अर्धशतक लगाया था। भारत वह सीरिज जीत गई थी।

2009 में श्रीलका के बिरुद्ध चल रही सीरिज में यूराज के अनफिट होने के कारण उनकी जगह विराट को लिया गया। विराट ने इस मैच में अपने जीवन का पहला शतक बनाया। 111 बाल में रन की शानदार पारी खेली. इस मैच में उन्होंने गौतम गंभीर के साथ 224 रन की पार्टनरशिप की ।

2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप में कोहली ने अपने पहले ही मैच में शतक बना डाला। इस तरह वह पहले भारतीय बलेबाज बने जिन्होंने वर्ल्ड कप के अपने पहले मैच में ही शतक बनाया हो। वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में विराट ने गंभीर के साथ 83 रन की पार्टनरशिप की और भारत ने 2011 वर्ल्ड कप जीता।

2014 में आस्ट्रेलिया के साथ टेस्ट सीरिज में धोनी अनफिट हो गए थे तो इस सीरिज के लिए विराट को कप्तान बनाया गया। विराट एक बहुत आक्रामक बलेबाज हैं। यह अंडर प्रेशर में बहुत अच्छी तरह खेलते हैं। इनको भविष्य का सचिन तेन्दुलर कहा जा रहा है। लोगो का मानना हैं की विराट ऐसे ही खेलते रहे तो वह सचिन का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं।

कोहली को बहुत सारे पुरस्कारों से समानित किया गया. 2012 में ICC ODI प्लेयर ऑफ़ द इयर और BCCI द्वारा 2011-12 का सर्वश्रेष्ट अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर, 2013 में अर्जुन पुरस्कार।

यह भी पढ़ें:-
जुगनू से चमका तारा
सफलता का चढ़ता परा
सुपर स्टार शाहरुख़ ख़ान के इंस्पायरिंग थॉट्स
विलियम शेक्सपीयर की जीवनी

Note: – आपको यह महान क्रिकेटर विराट कोहली की जीवनी कैसी लगी अपने comments के माध्यम से ज़रूर बताइयेगा।

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *