महादानी वॉरेन बफे का जीवन परिचय | Warren Buffett Biography in Hindi | HindiApni
Biography

महादानी वॉरेन बफे का जीवन परिचय | Warren Buffett Biography in Hindi

Warren Buffett Biography In Hindi

Warren Buffett Biography In Hindi
वॉरेन बफे शेयर बाजार का जादूगर

पूरा नाम           वॉरेन बफे
उप नाम           ऑरेकल ऑफ़ ओमाहा
जन्म तिथि       30 अगस्त 1930
जन्म स्थान       नेब्रास्का, ओमाहा, अमेरिका
पिता                  हावर्ड बफे
माता                 लीला स्टाल
पत्नी                 सुसान थोम्प्सन
बच्चे                 हॉवर्ड, पीटर
कंपनी               बर्क़शायर हैथवे

वॉरेन बफे जो दुनिया के सबसे अमीर लोगो में शामिल है। एक साधारण सा आदमी दुनिया के सबसे अमीर आदमी कैसे बना? वॉरेन को शेयर मार्केट का खिलाड़ी कहा जाता हैं। यह दुनया के सबसे बड़े निवेशक है। अरबो डौलर कमाई के बाद इनकी जीवन शैली का मिशाल दिया जाता हैं। ये बर्क़शायर हैथवे के मालिक है। 2008 में यह दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन चुके थे।

वॉरेन बफे का जन्म 30 अगस्त 1930 में अमेरिका के अमोहा शहर में हुआ था। इनके पिता का नाम हावर्ड बफे जो शेयर बाजार के कारोबारी थे। और माता का नाम लीला था। वारेन ने रोज हिल एलेमेंट्री स्कूल से अपनी पढाई की शुरुआत की उसके बाद उनका परिवार वासिंगटन चला गया। वारेन के पिता यूनाइटेड स्टेट कांग्रेस के लिए चूने गए थे। वुडरो विलसन हाई स्कूल से स्नातक किया।

वारेन को बचपन से ही बिजनेस का शौक था। वह शुरू से ही अपना जेब खर्च खुद काम करके निकाल लेते थे। इसके लिए वह अखबार बाटे, गोल्फ बाल और स्टाम्प बेचने का काम किया करते थे। 13 साल की उम्र में उन्होंने आयकर रिटर्न दाखिल किया था। और अपनी साईकिल के खर्च के रूप में घटा दिया।

वारेन ने 15 साल की उम्र में एक अपने दोस्त के साथ मिलकर नाइ की दुकान में पिनबाल लगाकर अच्छी कमाई की थी। बाद में उन्होंने यह कारोबार 1200 डौलर में एक वृद्ध सैनिक को बेच दिया। वारेन जब 10 साल के थे। तो न्यूयार्क स्टोक एक्सचेंज की ट्रिप पर गए थे। 11 साल की उम्र में उन्होंने Cities Service के तीन शेयर अपने लिए खरीदे और तीन अपनी बहन के लिए खरीदी थी। 15 वर्ष के उम्र में वारेन अखबार बाट कर 175 डौलर प्रति माह कमा लेते थे। जब वह हाई स्कूल में थे तो अपने पिता के कारोबार में निवेश कर एक 40 एकड़ का फार्म खरीदा था। वारेन अपने कालेज खत्म होते – होते 90000 डौलर कमा कर बचत कर लिए थे होर्वार्ड स्कूल में प्रवेश ना मिलने पर वारेन ने कोलम्बिया बिजनेस स्कूल में प्रवेश ले लिया वहा ग्राहम और डेविड जैसे अर्थसास्त्री मिले।

Warren Buffett Biography In Hindi

वारेन को बेंजामिन ग्राहम के साथ काम करने की बहुत इच्छा थी। लेकिन ग्राहम ने ये प्रस्तव ठुकरा दिया था। तब ग्राहम ने अपने पिता के फॉर्म में काम करने लगे थे। लेकिन अभी भी उनका ग्राहम के साथ काम करने का नशा नहीं उतरा था। उनको ग्राम के साथ काम करने की तीब्र इच्छा थी। वारेन लगातार कोशिस करते रहे आखिर कार ग्राहम ने उनको अपनी कंपनी में 12000 के सालाना वेतन पर नौकरी का प्रस्ताव दे दिया वारेन ने ग्राहम के साथ दो साल तक काम किया उसके बाद ग्राहम ने रिटायर्मेंट ले लिया और अपना कारोबार समेट लिया। उसेक बाद वारेन ने buffett partrnarship ltd नाम की एक निवेश फॉर्म बनाई इस फॉर्म में कुल 8 साझेदार थे। वारेन ने 31500 डौलर में ओमहा में अपना फल पांच बेडरूम वाला घर लिया जहा वह आज भी रहते है।

वारेन ने अपने कारोबार के जरिये 30 फीसदी सालाना की दर से अपने निवेश को बढाया जब की बाजार 7 – 11 फीसदी के दर से बढ़ रहा था। इस वजह से वाल स्ट्रीट में वारेन को एक पहचान मिल गया। 1962 में वारेन करोड़पति बन चुके थे। वारेन ने 1962 में एक टेक्सटाइल कंपनी Berkshire Hathaway में हिसेदारी खरीदनी शुरू कर दी उन्हीने 49 फीसदी शेयर खरीद लिए थे। वारेन ने बहुत सारी कंपनियों में निवेश करना शुरू कर दिया था। Berkshire Hathaway को घाटा से उबारा।

वारेन को शेयर मार्केट में जबरदस्त पकड़ बन चुकी थी। वह जिस कंपनी के शेयर में दिलचस्पी दिखाते उस कंपनी के शेयर में 10 फीसदी का उछाल आ जाते थे। वारेन को 21 सदी का महादानी के रूप में पहचाना जाता हैं। उन्होंने जून 2006 में अपनी कंपनी का 83 फीसदी हिस्सा दान में दे दिया यह लगभग 1600 अरब रूपये था।

यह भी पढ़ें:-
जुगनू से चमका तारा
सफलता का चढ़ता परा
महान क्रिकेटर विराट कोहली की जीवनी
विलियम शेक्सपीयर की जीवनी

Note: – आपको यह महादानी वॉरेन बफे का जीवन परिचय कैसी लगी अपने comments के माध्यम से ज़रूर बताइयेगा।

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *