Winston Churchill Biography in Hindi | विंस्टन चर्चिल की जीवनी | HindiApni
Biography

Winston Churchill Biography in Hindi | विंस्टन चर्चिल की जीवनी

Winston Churchill Biography in Hindi

Winston Churchill Biography in Hindi
विंस्टन चर्चिल की जीवनी

Name                  Winston Leonard Spencer-Churchill/विंस्टन चर्चिल

Born                   30 November 1874(1874-11-30)Blenheim Palace, Woodstock, Oxfordshire, England

Died                    24 January 1965(1965-01-24) (aged 90)28 Hyde Park Gate, London, England

Profession          Member of Parliament, statesman, soldier, journalist, historian, author, painter

विंस्टन चर्चिल ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री थे। उन्होंने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के रूप में 10 वर्षो तक योगदान दिया दूसरे विश्व युद्ध में विंस्टन चर्चिल की बहुत बड़ी भूमिका थी। उन्होंने ब्रिटेन को हार बचाया था वह हिटलर के खिलाफ अडिग होकर खरे थे। विंस्टन चर्चिल दूसरे विश्व युद्ध के समय ब्रिटेन के प्रधानमंत्री थे। वह एक ऐसे प्रधानमंत्री थे जिन्हे नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। चर्चिल एक कुशल राजनीतिज्ञ, कूटनीति, वक्ता, इतिहासकार, लेखक, और कलाकार थे।

चर्चिल का जन्म 30 नवम्बर 1874 को ऑक्सफोर्ड शायर के ब्लेनहीम पैलेस में हुआ था। इनके पिता का नाम लार्ड रेनडल्फ चर्चिल था। और माता का नाम जेनी था। इनकी पढ़ाई हैरी और सैंहर्स्ट में हुई। चर्चिल ने अपना कैरियर की शुरुआत एक सैनिक और युद्ध सावंदता के रूप में की इनके परिवार में बहुत सारे लोग सैनिक में ही थे। 1895 से 1898 तक क्यूबा, भारत, और सूडान में ब्रिटेन के फौज में उन्होंने युद्ध रिपोर्टिंग की।

Winston Churchill Biography in Hindi

3 सितंम्बर 1939 को जब ब्रिटेन ने युद्ध की घोषणा कर दिया। तब चर्चिल को जल सेना अध्यक्ष बनाया गया। 1940 में नार्वे की हार ने ब्रिटिश जनता को वर्तमान प्रधानमंत्री चैबरलेन के प्रति अविश्वास फैलने लगा। तो 10 मई को चैबरलेन ने त्याग पत्र दे दिया। और चर्चिल ने प्रधानमंत्री का पद संभाला और एक सम्लित राष्ट्र का निर्माण किया। चर्चिल ने प्रधानमंत्री बनाने के बाद अपनी भाषण में कहा की मैं रक्त, श्रम, आंसू, और पसीने के अतरिक्त और प्रदान नहीं कर सकता। उन्होंने ब्रिटिश साम्राज्य की संयुक्त शक्ति ही नहीं उन्होंने अमेरिका और रूस को भी जर्मनी के विरुद्ध खड़ा किया और उनके इसी प्रयास से मित्र राष्ट्रों की विजय हुई।

चर्चिल दुनिया के इतिहास में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण नेता थे। बीबीसी के 2002 चुनाव में जिसमे 100 महानतम ब्रिटिश लोगो का चुनाव हुआ था उसमे चर्चिल को सबसे ज्यादा महत्व दिया गया था। चर्चिल का शरुआती जीवन काफी उतराव – चढ़ाव भरा रहा हैं। लेकिन उनका दूसरे युद्ध में मिली कामयाबी जिस तरह उन्होंने लोकतान्त्रिक शक्तियों का नेतृत्व किया यह उपलब्धि उनको महान बना दिया 1955 में उन्होंने राजनीतिक से सन्यास ले लिया।

चर्चिल को 15 जनवरी 1965 को हार्ट अटैक का सामना करना पड़ा। उसके बाद वह बहुत बीमार रहने लगे और नौ दिन बाद 24 जनवरी 1965 को लन्दन में उनका देहांत हो गया उस समय पूरा ब्रिटेन एक सप्ताह शोक करता रहा।

चर्चिल भारतीय स्वाधीनता आंदोलन में गाँधी जी के शांति पूर्ण सविनय अवज्ञा आन्दोलन के सख्त विरोधी थे। वह यह चाहते थे की अगर गाँधी जी भूख हड़ताल करते हैं तो उन्हें मरने के लिए छोड़ दिया जाए।

यह भी पढ़ें:-
तुलसीदास जी का जीवन परिचय
विलियम शेक्सपीयर की जीवनी
डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के अनमोल विचार
शाहरुख़ ख़ान के इंस्पायरिंग थॉट्स

Note: – आपको यह Winston Churchill Biography in Hindi कैसी लगी अपने comments के माध्यम से ज़रूर बताइयेगा।

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *